Friday, 25 March 2011

जन्मदिन मुबारक पाखी / दीनदयाल शर्मा

जन्मदिन मुबारक

पांच बरस की हो गई पाखी,
सुन लो मेरी बात...
मम्मी से कुछ काम सीख लो,
जीवन की सौगात...

थोड़ा तन्वी को खिलाना..
सीखो घर को सजाना..
खूब हँसना - हँसाना..
सीखो रूठों को मनाना..

कभी ड्राइंग बनाना..
कभी रंगोली सजाना..
कभी पापा जी पर बैठ कर
घोड़ा दौड़ाना..

खूब पढ़ कर अव्वल आना..
विद्या पूँजी को बढ़ाना..
नाम जग में कमाना...
फिर ज़माना दीवाना..

जन्मदिन हो मुबारक..
तुम जिओ हजारों साल..
दुआएं सबकी साथ तुम्हारे..
तुम भारत की हो भाल....

- दीनदयाल शर्मा. बाल साहित्यकार..
हनुमानगढ़ जं. , राजस्थान...

deendayalsharma.blogspot.com
taabardunia.blogspot.com
ddji.blogspot.com
taabartoli.blogspot.com

7 comments:

  1. जन्मदिन हो मुबारक..
    तुम जिओ हजारों साल..
    दुआएं सबकी साथ तुम्हारे..
    तुम भारत की हो भाल....
    ...बेहतरीन गीत...बधाई.

    ReplyDelete
  2. पाखी को जन्मदिन की असीम बधाइयाँ.

    ReplyDelete
  3. हैप्पी बर्थ डे पाखी.... दीनदयाल अंकल आपने बहुत सुंदर कविता लिखी......

    ReplyDelete
  4. दीनदयाल अंकल जी, मेरे जन्मदिन पर विश करने हेतु आपका यह उपहार मुझे बहुत पसंद आया. इसके लिए आपको ढेर सारा प्यार और आभार. आप तो बहुत प्यारी-न्यारी सी कविता लिखते हैं...

    ReplyDelete
  5. मेरे जन्मदिन पर आप सभी की शुभकामनाओं और प्यार के लिए बहुत सारा प्यार और आभार !!

    ReplyDelete
  6. पाखी को जन्मदिन की असीम बधाइयाँ. उपहार स्वरुप कविता बहुत अच्छी लगी.

    ReplyDelete

हिन्दी में लिखिए